Home LATEST BOLLYWOOD Movie Review: अक्टूबर प्यार की एक अलग कहानी से रुबरु कराती है

Movie Review: अक्टूबर प्यार की एक अलग कहानी से रुबरु कराती है

569
0
SHARE
अक्टूबर प्यार की एक अलग कहानी से रुबरु कराती है
अक्टूबर प्यार की एक अलग कहानी से रुबरु कराती है

Movie Review: अक्टूबर प्यार की एक अलग कहानी से रुबरु कराती है

शूजित सरकार की डिरेक्टेड फ़िल्म ‘अक्टूबर’ दो लोगो के ज़िन्दगी की सिंपल सी कहानी कहते है जिसे डायरेक्टर ने बेहरतीर तरह से दर्शाया है! शूजित सरकार एक ऐसे निर्देशक हैं जिन्होंने हमेशा से ही हटकर फ़िल्में बनाने की कोशिश की है। ‘विकी डोनर’, ‘मद्रास कैफे’ या फिर ‘पिकू’ जैसी फ़िल्मों में देखें तो कन्फर्म है कि उनकी फ़िल्मों में सिम्पलिसिटी और कुछ हट कर होती है।

मनोज कुमार ने किया अक्षय कुमार को सलमान खान से कम्पेयर, कौन होगा नया भारत कुमार

वही बात करे फिल्म के चरक्टेरस की तो वरुण धवन डैन यानी दानिश का किरदार निभा रहे है जो दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में ट्रेनी है। वही शिवली यानि की बनिता संधू भी उससे होटल में ट्रेनी है। वैसे तो डैन अपनी ज़िंदगी में किसी काम को सीरियसली नहीं लेता मगर एक रेस्ट्रॉन्ट खोलने का सपना ज़रूर रखते है। एक दिन एक दुर्घटना में शिवली घायल हो जाती है और कोमा में चली जाती है, उसके बाद मूवी इसी के इर्द गिर्द घूमते और इसी जर्नी पर बेस्ड है फिल्म अक्टूबर।

फिल्म के फर्स्ट हाफ की बात करे तो शुरुआत के 10 मिनट तक आपको लगेगा कि फ़िल्म कहीं नहीं जा रही, फ़िल्म में कुछ भी नहीं हो रहा मगर धीरे-धीरे फ़िल्म आपको जकड़ना शुरू कर देगी और आपको पता ही नहीं चलेगा की कब आप उनकी लाइफ में शामिल हो गए।

क्यों सलमान खान हुए रेस 3 के डायरेक्टर रेमो डी सूज़ा से नाराज़, ट्रेलर को किया रिजेक्ट

फिल्म की खासियत है बेहतरीन म्यूजिक और बैकग्राउंड स्कोर जो आपको फिल्म से कनेक्टेड रखेगा, और वही फिल्म का स्क्रीनप्ले आपको फिल्म देखने का अलग एहसास दिलाएगा। फिल्म की कहानी काफी सिंपल है मगर जिस तरह से सुरजीत सरकार ने इससे पेश किया है वो काबिलेतारीफ है।

एक्टिंग की बात की करे तो वरुण धवन एक अलग ही अंदाज़ में नज़र आ रहे है मगर जो भी हो फ्लिम को वरुण धवन की रीयलिस्टिक एक्टिंग ने ही बढे रखा हैं। वही पहली ही फ़िल्म में शिवली बनी बनिता संधू ने काफी अच्छी एक्टिंग की है और अपने करैक्टर को बखूबी निभाया हैं।

अक्षय कुमार और शाहरुख़ खान में छिड़ गई है जंग, होगा धमाकेदार क्लैश

खूबसूरत सिनेमेटोग्राफी, बेहतरीन एडिटिंग के साथ-साथ फ़िल्म के चरक्टेर्स और फ़िल्म का म्यूजिक सभी चीज़ो का फिल्म में अच्छा काम था। इस फिल्म के म्यूजिक ने फ़िल्म को एक अलग लेवल पर पहुंचा दिया है। कुल मिलाकर ‘अक्टूबर’ एक सिंपल सी स्टोरी है और ऐसे लवस्टोरी है जो पहले कभी देखि नहीं गई होगी।

Loading...

Leave a Reply